ये है तब्बू की बड़ी बहन, कभी हुआ करती थी हिट हीरोइन, आज लाइमलाइट से दूर कुछ ऐसे बिता रही है जीवन

ये है तब्बू की बड़ी बहन, कभी हुआ करती थी हिट हीरोइन, आज लाइमलाइट से दूर कुछ ऐसे बिता रही है जीवन

फिल्म इंडस्ट्री में बहुत जल्दी चमकते हुए सितारे को भुला दिया जाता है। जिस एक्टर और एक्ट्रेस के पसंदीदा खाने से लेकर आदतों तक की चर्चा अखबारों और टीवी की सुर्खियां हुआ करती थी उसी सितारे की वापसी की खबरें इन सुर्खियों की मोहताज हो जाती है। कई कलाकार ऐसे भी रहे हैं जो अपने जमाने में शिखर पर रहे लेकिन मौजूदा समय में गुमनामी के अंधेरे में खो गए हैं। जब ऐसे ही कुछ कलाकारों को याद किया जाता है तो पुरानी यादें भी ताजी हो जाती हैं।

फराह नाज

फराह नाज तो याद होंगी आपको, वही फराह… जिनकी मासूम आंखें और बेपरवाह हंसी लाखों की भीड़ में भी आपका ध्यान खींच सकती है। तब्बू की बड़ी बहन, 80 और 90 के दशक की मशहूर अदाकार फराह नाज ने 80 और 90 के दशक में फासले, नसीब अपना-अपना और यतीम जैसी कई सुपरहिट फिल्में दी।

करियर के पीक पर छोड़ी इंडस्ट्री

बता दे की अभिनेत्री फराह नाज का जन्म 9 दिसंबर 1968 को एक मुस्लिम परिवार में हुआ था इनकी मां एक टीचर थी फरहा ने यश चोपड़ा की फिल्म फासले से बॉलीवुड में डेब्यू किया था उन्होंने अपने 20 साल के फिल्मी करियर के दौरान लगभग 60 से भी ज्यादा फिल्मों में काम किया है इस दौरान उन्होंने कई सारी हिट फिल्में की है। फराह नाज को आखिरी बार 2005 में फिल्म शिखर में देखा गया था |फराह नाज अपनी खूबसूरती के साथ साथ अपनी अदाकारी में भी सबका दिल जीत रही थी। खूबसूरती और टैलेंट का बेशकीमती मिश्रण होने के बावजूद फराह ने तब फिल्म इंडस्ट्री को छोड़ दी जब वह अपने पीक पर थी।

देवानंद ने दिया था एक्टिंग का ऑफर

फराह, तब्बू की बड़ी बहन थी। इनकी मां एक टीचर थी, एक बार किसी मौकों पर सदाबाहर अभिनेता देवानंद शबाना आजमी के घर पहुंचे थे। वहां फराह भी मौजूद थी। देवानंद की नजर फराह पर पड़ी तो उसे अपनी फिल्म में रोल ऑफर किया। लेकिन फराह की मां ने साफ मना कर दिया।

यश चोपड़ा ने शबाना आजमी को भेजा फराह के घर

साल 1985 में यश चोपड़ा फिल्म ‘फासले’ बना रहे थे। इसके लिए उन्हें फ्रेश चेहरे की तलाश थी। देवानंद ने ही यश चोपड़ा को फराह के नाम का सुझाव दिया था। साथ ही ये भी बताया था कि फराह की मां बेटी को फिल्मों के एक्टिंग के नाम पर भड़क सकती हैं। यश चोपड़ा ने शबाना आजमी को जिम्मेदारी थी कि वो जाएं और फिल्म के लिए फराह के मां को राजी करें। शबाना आजमी इसमें कामयाब भी रहीं।

पहली ही फिल्म में मचा दिया धमाल

फराह नाज ने अपनी पहली फिल्म में लोगों का दिल जीत लिया। लोगों का रिस्पॉन्स ऐसा मिला कि उनके पास धड़ाधड़ फिल्मों के ऑफर आने लगे। अपने वक्त में फराह ने दौर के सुपरस्टारों के साथ काम किया।

फराह जब पीक पर थी तो उनकी नजरें दारा सिंह के बेटे बिंदू दारा सिंह से टकरा गईं। पहली नजर वाले इश्क में दोनों ने साथ जीने-मरने की कसमें खा ली और शादी का फैसला कर लिया। बिंदू हिंदू हैं और फराह मुस्लिम। लिहाजा दोनों के परिवार शादी के लिए तैयार नहीं थे। 1996 में दोनों कलाकारों ने परिवार वालों की मर्जी के बगैर शादी करने का फैसला कर लिया।

7 साल बाद हो गया तलाक

शादी के 7 साल बाद ही दोनों ने तलाक का फैसला ले लिया। बिंदू का करियर फ्लॉप होना, दोनों के रिश्तों के टूटने की अहम वजह रही। तलाक के कुछ दिनों बाद बिंदू ने रुसी मॉडल से शादी कर ली।बिंदू से अलग होने के बाद फराह नाज ने टीवी कलाकार सुमित सहगल से शादी कर ली। फराह इन दिनों फिल्मी दुनिया से दूर अपने पति और बेटे के साथ पारिवारिक जिंदगी बिता रही हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *