ऋषि के निधन के बाद अकेली क्यों रह रही हैं नीतू कपूर, बताया क्यों बेटे रणबीर के साथ नहीं रहती ?

ऋषि के निधन के बाद अकेली क्यों रह रही हैं नीतू कपूर, बताया क्यों बेटे रणबीर के साथ नहीं रहती ?

ऋषि के निधन के बाद अकेली क्यों रह रही हैं नीतू कपूर, बताया क्यों बेटे रणबीर के साथ नहीं रहती ?

गुजरे जमाने की जानी-मानी अभिनेत्री नीतू कपूर हाल ही में एक साक्षात्कार का हिस्सा बनी थी. इस साक्षात्कार में उन्होंने ऋषि कपूर के गुजर जाने के बाद की अपनी ज़िंदगी के बारे में बात की हैं. इसके साथ ही नीतू ने और भी कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. इस दौरान नीतू ने यह भी खुलासा किया कि, आखिर क्यों वे अपने बच्चों से अलग रहती हैं.

बता दें कि, नीतू कपूर बॉलीवुड की जानी-मानी अभिनेत्री हैं. वे अब भी फ़िल्मी दुनिया में सक्रिय हैं और फ़िल्में कर रही हैं. अपने एक हालिया साक्षात्कार में उन्होंने बताया कि, वह चाहती हैं कि उनके बच्चे अपनी ज़िंदगी में सेटल रहें. उन्होंने बेटे रणबीर कपूर और बेटी रिद्धिमा को लेकर बात की.

नीतू कपूर ने कहा कि, ‘मेरा कहना है मेरे दिल में रहो. मेरे सिर पर मत चढ़ो. जब महामारी के दौरान जब रिद्धिमा मेरे साथ एक साल रही तब मैं बहुत तनाव में थी, क्योंकि वह वापस नहीं जा सकी. मैं बैचेन हो जाती थी, मैं उससे कहती थी तुम जाओ, भरत अकेला है. मैं वाकई उसे दूर भेज रही थी, क्योंकि मुझे मेरी प्राइवेसी पसंद है और मैं ऐसा ही जीवन जीने की आदी हूं.’

नीतू कपूर ने आगे इस मामले पर विस्तार से बात करते हुए कहा कि, रिद्धिमा जब पढ़ाई के लिए लंदन गई थीं तो वे रोया करती थीं. मुझे आज भी याद है रिद्धिमा पढ़ाई के लिए लंदन जा रही थी तो मेरे आंसू नहीं रुकते थे. जाने के दौरान कोई उससे मिलने आता था तो में रो दिया करती थी. हालांकि जब कई सालों बाद रणबीर गया तो मैं नहीं रोई

जब रणबीर के जाने पर नीतू कपूर नहीं रोई तो रणबीर ने अपनी मां से कहा कि, ‘मां तुम मुझे प्यार नहीं करतीं. लेकिन ऐसा नहीं था, तब तक मैं अपनी लाइफ में बच्चे के बिना रहना सीख गई थी. इसलिए जब दोबारा यही हुआ तो मैं तैयार थी. मेरा मानना है कि जब वे विदेश में थे तो मैं अकेले रहना सीख गई थी.’

नीतू का यह माना है कि, जब वे अकेली होती है तो ज़िंदगी को बेहतर ढंग से जी पाती है. अपने बच्चों को लेकर नीतू ने आगे कहा कि, मुझे अच्छा लगता है जब वे आते हैं लेकिन मैं ये चाहती हूं कि वे अपने घर वापस चले जाएं. मैं बच्चों से कहती हूं रोज मेरे टच में मत रहो, मुझसे रोज मत मिलो. मुझे इंडिपेंडेंट जिंदगी पसंद है.

गौरतलब है कि, दिग्गज़ अभिनेता रहे ऋषि कपूर का बीते साल निधन हो गया था. उन्होंने 30 अप्रैल 2020 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. वे कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे और आखिरकार वे कैंसर से जंग हार गए. उनका मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया था. इसी के साथ नीतू और ऋषि के 40 साल के रिश्ता का अंत हो गया था.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *