मेंढक और तेंदुए के बिच औकात से बढ़कर हुई लड़ाई ,तेंदुए को पीछे हटना पड़ा , देखे Video

मेंढक और तेंदुए के बिच औकात से बढ़कर हुई लड़ाई ,तेंदुए को पीछे हटना पड़ा , देखे Video

चाहे इंसान हो या जानवर लड़ाई (Fight) के लिए बराबर होना जरूरी है. यानी लड़ाई तभी हो सकती है जब दोनों प्रतिद्वंदी एक दूसरे के टक्कर के हों. अगर कोई छोटा है और दूसरा बड़ा है तो जाहिर है दोनों के बीच लड़ाई ही हो पाएगी न ही देखने वाले को मजा आएगा. यदि ऐसा होता है तो स्थिति क्या होगी इसका अंदाजा उस वीडियो को देखकर लगाया जा सकता है जो सोशल मीडिया पर बहुत तेजी के साथ वायरल (Viral Video) हो रहा है. वीडियो में तेंदुए (Leopard) और मेंढक (Frog) को लड़ते हुए दिखाया गया है और इस लड़ाई में हर वो एलिमेंट है जो देखने वाले का पूरा मनोरंजन करेगा.

वीडियो को सोशल मीडिया पर आई एफ एस सुसंत नंदा द्वारा पोस्ट किया गया है. 18 सेकंड के इस वीडियो में तेंदुए को मेढ़क से लड़ते दिखाया गया है. वीडियो में तेंदुए के सामने जैसी हिम्मत मेढ़क ने दिखाई है उससे साफ हो जाता है लड़ाई में साइज नहीं जिगरा महत्वपूर्ण है. यानी लड़ाई वही जीतेगा जो जिगरे के लिहाज से दिलेर हो.

बात अगर इस वीडियो की हो तो वीडियो पोस्ट करते हुए आई एफ एस सुसंत नंदा ने लिखा है कि समय बदल रहा है. मेढ़क और तेंदुए के बीच ऐसी लड़ाई हो रही है जिसपर विश्वास करना मुश्किल है. देखना मजेदार रहेगा कि इस लड़ाई में कौन जीतेगा.

देखे Video:

बहरहाल जब इस वीडियो को देखते हैं तो मिलता है कि पहला वार अपने पंजे से तेंदुए ने मेढ़क पर किया. मेढ़क ने भी उसे मुंह तोड़ जवाब दिया. मेढ़क अपना मुंह फुलाते हुए तेंदुए पर वार करता है जिसे देख कर तेंदुए को डर लगता है और वह पीछे हट जाता है.

वीडियो को जनता द्वारा हाथों हाथ लिया जा रहा है. जैसी प्रतिक्रियाएं इस वीडियो को मिल नहीं है उसे देख कर यह साफ हो जाता है कि चाहे जंगल हो या हमारा परिवेश किसी भी लड़ाई में जीतता वही है जिसका दिल मजबूत होता है.

क्योंकि बात तेंदुए और मेंढक की हुई है और इस वीडियो में उनकी लड़ाई का जिक्र है तो यहां नन्ना मुन्ना मेंढक विजेता साबित हुआ है. मेंढक ने बता दिया है कि वह भले ही साइज में छोटा है तो क्या हुआ उसका दिल वाक़ई बहुत बड़ा है और वो किसी से भी मुकाबला करने की पूरा क्षमता रखता है.

बहरहाल अब जबकि ये वीडियो हमारे सामने आ गया है तो वाकई इसे देखकर हैरत होती है और यह साफ हो जाता है की लड़ाई हथियारों और छोटे या बड़े होने से नहीं बल्कि हौसलों से जीती जाती है. इस मामले में तेंदुए के मुकाबले मेढ़क में हौसला था और उसने लड़ाई जीतते हुए इसे सिद्ध कर दिया.

नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल)
[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Prime News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *