क्या आज भी है बर्फ के सबसे बड़े जानवर का अस्त्तिव, जानिए देखे video…

क्या आज भी है बर्फ के सबसे बड़े जानवर का अस्त्तिव, जानिए देखे video…

कनाडा के युकोन में एक बेबी वुली मैमथ की हाल ही में खोज हुई है। ये मैमथ लगभग 30 हजार साल पुराना था। ये खोज उत्तरी अमेरिका में अब तक की सबसे महत्वपूर्ण मानी जा रही है, क्योंकि इस मैमथ का शरीर पूर्ण है। यानी इसके शरीर पर स्किन भी है। 30 हजार साल से ये धरती के नीचे दबा था, लेकिन फिर भी ये पूरी तरह से गला नहीं है। इसे देखने पर ऐसा लगता है कि ये कुछ ही दिन पहले इसकी मौत हुई है। ऐसे में ये सवाल उठता है कि आखिर वुली मैमथ क्या होते हैं?

कई साल पहले ‘आइस एज’ (Ice Age) नाम की एनिमेशन फिल्म आई थी। इस एनिमेशन फिल्म में हाथी की तरह के दिखने वाले जानवर थे, जो वुली मैमथ हैं। ये फिल्म उस समय के बारे में बताती है जब इंसानों का विकास नहीं हुआ था और पूरी धरती बर्फ से ढकी हुई थी। माना जाता है कि आइस एज या हिम युग आज से 24 लाख साल पहले शुरू हुआ और लगभग 11 हजार साल पहले तक चलता रहा। इस समय में पृथ्वी मोटी-मोटी बर्फीली चादर से ढकी हुई थी।

ये है वुली मैमथ की खासियत

वैज्ञानिकों के मुताबिक वुली मैमथ आज से तीन लाख से 10 हजार साल पहले तक पाए जाते थे। ये हाथियों के परिवार से आते हैं। वुली मैमथ बड़े होते थे लेकिन ये बहुत ज्यादा विशालकाय नहीं होते थे। आज के हिसाब से देखें तो अफ्रीकी हाथियों के आकार के बराबर होते थे। वुली मैमथ के शरीर पर दो तरह के बाल होते थे। शरीर को लंबे बाल घेरे रहते थे जो किसी जैकेट की तरह उन्हें कवर करते थे और उनके नीचे छोटे-छोटे बाल होते थे। ये उन्हें गर्म रखने में मदद करते थे।

आज के हाथियों से तुलना

आज के हाथियों से अगर वुली मैमथ की तुलना करें तो इनके कान छोटे होते थे। इनके बालों की तरह ही कान भी उन्हें गर्म रखने में मदद करते थे। इनके बड़े-बड़े दांत भी आज के हाथियों की तरह नीचे की तरफ न होकर ऊपर की ओर घूमे रहते थे। इससे वह जमीन को खोद सकते थे। पेड़ों की छाल को भी इससे वह रगड़ते थे। वुली मैमथ की एक खासियत ये है कि इनके दांतों की रिंग को देख कर उनकी उम्र का पता लगाया जा सकता था। ठीक उसी तरह जैसे पेड़ की रिंग देख कर उसकी उम्र का पता लग सकता है। हर साल मैमथ के दांतों में एक रिंग बनती थी। रिंग की मोटाई से उस समय के हालात पता किए जा सकते हैं।

दांतों की रिंग से उम्र का होता है अंदाजा

अगर मैमथ के दांतों की रिंग पतली है, इसका मतलब कि वह साल मुश्किल भरा था। वहीं अगर दांतों की रिंग मोटी है तो ये पता चलता है कि वह साल अच्छा था और खाने की कमी नहीं थी। वुली मैमथ ही इकलौता जीव नहीं था जो हिम युग में रहा। वुली गैंडा भी उसी समय में रहा है। ये दोनों जानवर लगभग एक ही समय में खत्म हुए हैं। मैमथ आज के गायों की तरह घास खाते थे।

देखे Video :

आपकी जानकारी के लिए बता दे की @Wild Gravity नामक एक यूट्यूब अकाउंट से यह वीडियो शेयर किया गया है । अब तक इस वीडियो को लाख से ज्यादा बार देखा जा चूका है। अब तक इस वीडियो को हजार से ज्यादा लोग पसंद भी कर चुके हे।

नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल)

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. primenews अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *