भारत में इन जगहों पर नहीं होता है रावण का दहन, दशहरे पर होती है पूजा

भारत में इन जगहों पर नहीं होता है रावण का दहन, दशहरे पर होती है पूजा

नवरात्रि के समाप्त होने के बाद पूरे देश में दशहरा (Dussehra 2021) धूमधाम से मनाया जाता है। विजयदशमी को ही भगवान राम ने रावण को मार गिराया था और माता सीता को लेकर अयोध्या वापस आए थे। इसलिए इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। विजयदशमी के दिन भारत में रावण के पुतले को जलाया जाता है। लेकिन देश में कई ऐसी भी जगहे हैं जहां पर रावण का पूतला नहीं जलाया जाता है, बल्कि उसकी पूजा की जाती है। आईए जानते हैं उन जगहों के बारे में…

कर्नाटक


दक्षिण भारतीय राज्य कर्नाटक के कोलार में रावण की पूजा की जाती है। यहां पर हर साल रावण महोत्सव का आयोजन होता है जिसको लंकेश्वर महोत्सव के नाम से जाना जाता है। रावण भगवान शिव का सबसे बड़ा भक्त था इसलिए यहां लोग उसकी पूजा करते हैं। यहां पर रावण का विशाल मंदिर भी है।

आंध्रप्रदेश


आंध्रप्रदेश के काकिनाड में भी लोगों ने रावण का मंदिर बनाया है। यहां के लोग भगवान राम की शक्तियों को नहीं मानते हैं, बल्कि रावण को ही शक्तिशाली मानते हैं। यहां पर स्थित मंदिर में लोग भगवान शिव के साथ रावण की भी पूजा करते हैं।

हिमाचल प्रदेश


हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में बैजनाथ नाम का कस्बा है जहां पर रावण की लोग पूजा करते हैं। मान्यता है कि रावण ने इसी स्थान पर भगवान शिव की तपस्या की थी। इसके बाद भगवान शिव ने प्रसन्न होकर रावण को मोक्ष का वरदान दिया था। यहां के लोग मानते हैं कि अगर रावण का पूतला फूंका तो उनकी मौत हो सकती है। इस डर से लोग रावण की पूजा करते हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *