पिछले 19 सालों से पब्लिक टॉयलेट में रहती हैं ये महिला, सिर्फ 80 रुपए में गुजार रही जिंदगी

पिछले 19 सालों से पब्लिक टॉयलेट में रहती हैं ये महिला, सिर्फ 80 रुपए में गुजार रही जिंदगी

इंसान को जिंदगी जीने के लिए तीन बेसिक चीजों रोटी, कपड़ा और मकान की जरूरत होती हैं. गरीब वर्ग रोटी और कपड़ा का जुगाड़ तो जैसे तैसे कर लेता हैं लेकिन जब बात सिर पर छत यानी मकान की आती हैं तो ये उसके बस की बात नहीं होती हैं. कुछ मिडल क्लास या गरीब लोग तो फिर भी किराए का मकान लेकर ठीक ठाक जिंदगी जी लेते हैं लेकिन लोअर क्लास में कई लोग ऐसे हैं जो ये भी अफोर्ड नहीं कर सकते हैं. आप ने भी कई बेघर लोगो को देखा होगा जो रात कि सिर छिपाने के लिए मारे मारे फिरते हैं. ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी महिला से मिलाने जा रहे हैं जो पिछले 19 सालों से एक सार्वजानिक शौचालय में ही रह रही हैं.

सार्वजानिक शौचालय की हालत कैसी होती हैं ये तो आप सभी जानते ही हैं. हम अक्सर इनका इस्तेमाल किसी मजबूरी के चलते ही करते हैं. इनके अंदर जाने के बाद हमारी कोशिश यही रहती हैं कि इससे जितना जल्दी हो सके बाहर आ जाए. पब्लिक टॉयलेट में आने वाली बदबू किसी से सहन नहीं होती हैं. इसके अंदर तो छोड़े इसके सामने भी खड़े रहना कई लोग पसंद नहीं करते हैं. ऐसे में जरा सोचिए उस महिला पर क्या बीत रही होगी जो इसके अंदर 19 सालों से रह रही हैं.

दरअसल हाल ही में न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने कुछ तस्वीरें शेयर की हैं. इस तस्वीरों में एक 65 वर्षीय वृद्ध महिला को टॉयलेट में रहते हुए दिखाया गया हैं. ‘पब्लिक टॉयलेट’ में रहने वाली इस महिला का नाम करुप्पयी हैं जो कि तमिलनाडु के मदुरै में रमनाड इलाके में बने एक सावर्जनिक शौचालय में रहती हैं. ऐसा नहीं हैं कि इसे यहाँ रहना अच्छा लगता हैं बस ये यहाँ रहने को मजबूर हैं. इसे शौचालय साफ़ करने कएबदले रोजाना के 70 से 80 रुपए ही मिलते हैं. इतने कम पैसो में ये अपनी रोटी पानी का ही गुजारा कर पाती हैं.

महिला ने बताया कि “मैंने वरिष्ठ नागरिक पेंशन के लिए कलेक्टर ऑफिस के बहुत चाकर लगाए हैं लेकिन फिर भी कोई मेरी सहायता नहीं कर रहा हैं. बस इसलिए मैं इस शौचालय में रहने को मजबूर हूँ. मुझे यहां टॉयलेट की साफ़ सफाई के बदले रोज के 70-80 रुपए मिल जाते हैं, उसी से जैसे तैसे गुजरा करती हूँ. मेरी एक बेटी भी हैं लेकिन वो मुझ से मिलने कभी नहीं आती हैं.”

महिला की इस दुःखभरी दास्तान को सुन सोशल मीडिया पर कई लोग सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि वे इसकी मदद कर दे. इसके अलावा कुछ भले लोग खुद भी इस महिला की सहायता के लिए हाथ आगे बढ़ाने की पेशकश रख रहे हैं. एक यूजर ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए लिखा कि “इस महिला को तुरंत प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान मिलना चाहिये ओर तमिलनाडु मैं भाजपा समर्थित सरकार हैं मुझे उम्मीद हैं इस महिला को मकान मिलने मैं कोई दिक्कत नहीं होगी,मैं मोदी सरकार ओर तमिलनाडु सरकार दोनो से इसको मकान देने की प्रार्थना करता हूँ.”

इसके अलावा कोई लिखता हैं कि यकीन नहीं होता लोग आज भी 80 रुपए में गुजरा कर रहे हैं. तो किसी ने लिखा मुझे बताइए मैं इनकी सहायता कैसे कर सकता हूँ. वहीं बहुत से लोग महिला की मदद के लिए मोदी जी से गुहार भी लगा रहे हैं.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *